सीएम ने जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी यादवेन्द्र सिंह के विरुद्ध अभियोजन की स्वीकृति दी

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेन्स नीति की निरंतरता के क्रम में सोमवार को छात्रवृत्ति धनराशि गबन मामले में उन्नाव जनपद में तैनात रहे जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी यादवेन्द्र सिंह के विरुद्ध अभियोजन की स्वीकृति प्रदान की है। मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई है। जानकारी के मुताबिक छात्रवृत्ति का सरकारी धन समाज कल्याण अधिकारी के पदनाम से फर्जी पत्रों को तैयार कर बैंक ऑफ बडौदा उन्नाव के खाते में डाला गया। बैंक ऑफ बडौदा उन्नाव के उक्त खाते का स्टेटमेंट प्राप्त किया गया, जिसमें 4,37,500 रुपए दिनांक 23 जुलाई 2009 को जमा किया गया। यही धनराशि अवध ग्रामीण बैंक भेजा गया। जो जिला समाज कल्याण अधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर यादवेन्द्र सिंह पिछडा वर्ग कल्याण अधिकारी द्वारा किया जाना पाया गया। जिससे उनके विरुद्ध थाना कोतवाली जनपद उन्नाव में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीकृत किया गया। प्रकरण की विवेचना आर्थिक अपराध अनुसंधान संगठन द्वारा किया गया।

Check Also

राम भक्तों पर गोली चलाने वालों को सवाल पूछने का हक नहीं : CM योगी

लोकतंत्र की आड़ में कोई निर्दोषों को सताएगा तो उसी की भाषा में देंगे जवाब …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *