योगी सरकार का बजट किसानों से किये गये वादे के साथ धोखा : प्रियंका

लखनऊ : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी सरकार के वित्तीय वर्ष 2020-21 के पेश हुए बजट को लेकर सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने बुधवार को अपने ट्वीट में बजट में किसानों की समस्याओं की अनदेखी का आरोप लगाया है। इसके साथ ही गन्ना भुगतान गायब होने की बात कही है। प्रियंका वाड्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार का बजट आया है। किसानों की आवारा पशुओं की समस्या का हल उसमें से गायब है। गन्ने का बाकी भुगतान गायब है। किसानों का फसल बर्बादी का मुआवजा गायब है। किसानों की फसल के दाम की बात गायब है। इसके साथ उन्होंने एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें किसान आवारा पशुओं से बेहद परेशान होने की बात कर रहे हैं। उनका कहना है कि फसल की रखवाली के लिए उन्हें पूरी रात जागना पड़ता है। इस वजह से वह दूसरे काम भी नहीं कर पा रहे हैं। खेती बर्बाद हो रही है। इस वीडियो में कहा गया है कि ये किसानों से किये वादे के साथ धोखा नहीं है?

हालांकि प्रदेश सरकार ने अपने बजट में कहा है कि उसने 46 लाख 20 हजार गन्ना किसानों को 86700 करोड़ रुपये के गन्ना मूल्य का भुगतान कराया है। विगत दो वर्षों में प्रदेश की चीनी मिलों द्वारा 2143 लाख टन गन्ने की पेराई की गई, जो रिकॉर्ड है। इसके साथ ही किसानों के हित में बजट के अन्य प्रावधान में वर्ष 2020-2021 में खाद्यान्न उत्पादन का लक्ष्य 641 लाख 74 हजार मीट्रिक टन एवं तिलहन उत्पादन का लक्ष्य 13 लाख 90 हजार मीट्रिक टन निर्धारित किया गया है। आगामी वर्ष में 61 लाख 43 हजार कुन्तल गुणवत्तापूर्ण बीजों का वितरण किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। किसानों को पर्याप्त मात्रा में उर्वरकों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए आगामी वर्ष में 102 लाख मीट्रिक टन उर्वरक वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। वहीं कृषि श्रमिकों की कमी को देखते हुये मशीनीकरण को बढ़ावा देने के लिए अनुदान पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराये जाने के लिये 1694 कस्टम हायरिंग केन्द्र तथा 305 फार्म मशीनरी बैंक की स्थापना कराकर 40606 उन्नत कृषि यंत्रों का अनुदान पर वितरण किया जाना प्रस्तावित है।

Check Also

All India अंतर विश्वविद्यालयी सेपक टकरा प्रतियोगिता में कुमाऊं विवि की छात्राओं ने जीता कांसा

नैनीताल : इस महीने 17 से 19 फरवरी तक रुहेलखंड विश्वविद्यालय, बरेली (उत्तर प्रदेश) द्वारा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *